नशीली दवा बेचने वाले ग्यारह गिरफ्तार

 नशीली दवा बेचने वाले ग्यारह गिरफ्तार

गाजीपुर। शहर कोतवाली पुलिस व स्वाट टीम ने रविवार की देर रात महुआबाग से नशीलीं दवाओं का कारोबार करने वाले गिरोह के सरगना सहित 11 को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके कब्जे से भारी मात्रा में नशीली दवा, इंजेक्शन व नकदी बरामद किया है। पुलिस कार्यालय में इसका खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह पत्रकारों को बताये। उन्होने बताया कि लगातार सूचना मिल रही थी कि शहर में नशीली दवाओं का कारोबार करने वाला गिरोह सक्रिय है। पुलिस इनकी तलाश कर रही थी। कोतवाली प्रभारी दीनदयाल पांडेय को मुखबिर से सूचना मिली कि नशीली दवा बेचने वाला गिरोह के सदस्य महुआबाग में खड़े होकर किसी का इंतजार कर रहे हैं। इस सूचना पर पुलिस टीम के साथ स्वाट टीम प्रभारी रामाश्रय राय मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने घेराबंदी करके गिरोह के सरगना सहित ग्यारह लोगों को धर दबोचा। तलाशी लेने पर उनके कब्जे से नशीली इन्जेक्शन बुप्रीरेज (बुप्रीनारफीन) इन्जेक्शन दो एमएल का दो सौ दस पीस तथा तीस शीशी प्रत्येक दसl ऐविल इन्जेक्शन एवं 560 पीस निडल और 180 पीस सिरिन्ज तथा बिक्री का 10020 रुपये व जामा तलाशी का 1980 रुपये बरामद किया। पूछताछ में युवकों ने अपना नाम महुआबाग निवासी धीरेंद्र त्रिपाठी, खुदाईपुरा निवासी रोहित, छवलका इनार चीतनाथ निवासी सुजीत कुमार, सरायगली निवासी सद्दाम, नवाबफाटक निवासी शेरु, कलेक्टरघाट निवासी सन्त लाल,मुहम्मदाबाद के टड़वा युसुफपुर निवासी छट्ठू राम,इसी कोतवाली के नवापुरा निवासी सोनू पासवान, टड़वा कालोनी निवासी राजेश तथा करीमुद्दीनपुर निवासी अजय चौबे, सुहवल थाना के ताड़ीघाट निवासी सत्या डोम बताये। पूछताछ में पकड़े गये आरोपियों ने बताया कि बिहार से नशीली दवाइयाँ व इंजेक्शन सस्ते दामों में खरीदते हैं तथा नशा करने वाले लोगों को ऊँची कीमत पर बेचते हैं। उसी पैसे से हमलोगों का खर्च चलता है।

You cannot copy content of this page