राजनैतिक विरोधियों को परेशान कर रही केंद्र सरकारःकांग्रेस

 राजनैतिक विरोधियों को परेशान कर रही केंद्र सरकारःकांग्रेस

—कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया धरना-प्रदर्शन, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

This image has an empty alt attribute; its file name is 16-%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A5%8D%E0%A4%9E%E0%A4%BE%E0%A4%AA%E0%A4%A8-%E0%A4%85%E0%A4%B5%E0%A4%A7-%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%82%E0%A4%A1%E0%A4%BE-36.jpg
This image has an empty alt attribute; its file name is %E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%9C%E0%A5%8D%E0%A4%9E%E0%A4%BE%E0%A4%AA%E0%A4%A8-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%A7%E0%A5%87%E0%A4%95%E0%A5%83%E0%A4%B7%E0%A5%8D%E0%A4%A3-36-1024x506.jpg

गाजीपुर। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न और गैर कानूनी ढंग से गिरफ्तारी, मारपीट, पुलियिया कार्यवाही से नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को सरजू पांडेय पार्क में धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि केंद्र की भाजपा अपने राजनैतिक विरोधियों को परेशान करने के लिए संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग खुलकर कर रही है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद राहुल गांधी को ई़डी द्वारा बिना पर्याप्त सबूतों के बार-बार परेशान किया जा रहा है। इसके पूर्व भी नेशनल हेराल्ड मामले की जांच हो चुकी है। आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए इसको पुनः हवा दी जा रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस की बर्बर कार्यवाही ने तमाम कांग्रेस नेता व कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट एवं उन्हें दूर-दराज ले जाकर निरुद्ध करना एक अलोकतांत्रिक कदम है। आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय में प्रवेश कर मारपीट एवं दुर्व्यवस्था पैदा करना घोर अपराध है। जिला कांग्रेस कमेटी यह मांग करती है कि इस तरह की कार्यवाही तुरंत बंद होनी चाहिए और दोषी अधिकारियों को दंडित किया जाना, अन्यथा कांग्रेस कार्यकर्ता लोकतांत्रिक तरीके से अपनी आवाद को जनता के बीच अनवरत जारी रखेंगे। हम लोकतंत्र का ताना-बाना नष्ट नहीं होने देंगे। अंत में राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सक्षम अधिकारी को सौंपा गया। इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष डा. मारकंडेय सिंह, पूर्व नगर अध्यक्ष शफीक अहमद, राघवेंद्र चतुर्वेदी, संदीप कुमार विश्वकर्मा सब्बू, राजकपूर, शशिभूषण राय, कमलेश्वर प्रसाद, विरेंद्र कुमार, रईस अहमद, हिमांश श्रीवास्तव, सुशील सिंह, विजयशंकर पांडेय, रविकांत राय सहित अन्य नेता-कार्यकर्ता मौजूद रहे।

You cannot copy content of this page